अपने अस्तित्व को बचाने के जद्दोजहद में अररिया जिले के आत्मनिर्भर ग्रामवासी

नदी के कटाव में चार बार अपना घर गंवा चुके अजय कुमार दास कहते हैं ” यह केवल एक सड़क का मुद्दा बिल्कुल भी नहीं है, यह हमारे अस्तित्व, विस्थापन, रोजगार के लिए पलायन का मुद्दा है।”

Continue reading अपने अस्तित्व को बचाने के जद्दोजहद में अररिया जिले के आत्मनिर्भर ग्रामवासी

शराबबंदी वर्तमान और इतिहास

शुरुआत बिहार से करना सही रहेगा जहाँ इस साल 3 अप्रैल से सरकार ने पुर्ण शराबबंदी का घोषणा किया और आनन-फानन मे ऐसे कड़े कानून बनाए गए जिसके दायरे मे बहुत सारे निर्दोषो को भी जेल की हवा खानी पड़ रही है। शराबबंदी की घोषणा करते वक्त मुख्यमंत्री ने महिलाओ के हवाले से कहा ‘ … Continue reading शराबबंदी वर्तमान और इतिहास