सही समय पर सही कदम से COVID 19 को हराया जा सकता है

अगर समय रहते सही कदम लेंगे तो Covid होने पर भी मरीज को खतरनाक स्थिति तक जाने से रोका जा सकता है। सही समय पे Steroids से जिंदगी बचाई जा सकती है। Continue reading सही समय पर सही कदम से COVID 19 को हराया जा सकता है

बंगाल चुनाव संयुक्त मोर्चा बनाम आरएसएस ( भाजपा+टीएमसी)

वर्तमान समय में हमारा सबसे बड़ा दुश्मन कौन है इसे लेकर जरा भी शंका नहीं है पर जो लड़ाई पहले टीएमसी बनाम संयुक्त मोर्चा के बीच थी अब वो आरएसएस ( टीएमसी+ बीजेपी) बनाम संयुक्त मोर्चा के बीच हो रही है।

Continue reading बंगाल चुनाव संयुक्त मोर्चा बनाम आरएसएस ( भाजपा+टीएमसी)

निरंकुश कानून को निरंकुश तरीके से किया गया पारित – एनएपीएम

27 मार्च, 2021: सारी संसदीय परम्पराओं और संवैधानिक मानकों को तोड़ते हुए, ‘बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस विधेयक, 2021’ जैसे निरंकुश कानून को निरंकुश तरीके से पारित किया गया Continue reading निरंकुश कानून को निरंकुश तरीके से किया गया पारित – एनएपीएम

शिव कुमार के मेडिकल रिपोर्ट में पुलिस बर्बरता का जघन्य रूप

उसकी गिरफ़्तारी की अधिकारिक सूचना दिए जाने के हफ़्ते दिन पहले ही पुलिस द्वारा उन्हें उठाया गया था, यदि ये सच है तो इसका मतलब उसे सात दिनों तक अवैध रूप से हिरासत में रखा गया है। मेडिकल रिपोर्ट में चोट के बारे में बताया है ” सभी चोट लगभग दो हफ़्ते पहले के हैं और किसी भारी हथियार या वस्तु से हुआ है ” Continue reading शिव कुमार के मेडिकल रिपोर्ट में पुलिस बर्बरता का जघन्य रूप

24 वर्षीय दलित कार्यकर्ता नोदीप कौर की हरियाणा पुलिस द्वारा की गई गिरफ्तारी और यौन हिंसा

12 जनवरी को कुण्डली औद्योगिक क्षेत्र में एक श्रमिक रैली का आयोजन होता है जिसमें बकाया मजदूरी की मांग करने वाले श्रमिकों पर हरियाणा पुलिस द्वारा गोलीबारी किया जाता है, पुलिस का दावा है कि आंदोलनकारी श्रमिक फैक्ट्री मालिकों से जबरन वसूली कर रहे थे। आयोजन में हुए अचानक गोलीबारी से चारो दिशा में भगदड़ होती है जिसमें एक 24 वर्षीय दलित कार्यकर्ता नोदीप कौर को पुलिस द्वारा पकड़ लिया गया और उन्हें बेरहमी से पीटा जाता है। उन्हें पीट रहे सारे पुरुष पुलिस थे। उनमें एक भी महिला पुलिस कर्मी नहीं थी। पुलिस उनके गुप्तांगों को खास निशाना बना कर पीटती है और वहां से कुण्डली पुलिस स्टेशन तक लगभग घसीटते हुए ले जाती है। Continue reading 24 वर्षीय दलित कार्यकर्ता नोदीप कौर की हरियाणा पुलिस द्वारा की गई गिरफ्तारी और यौन हिंसा

जोकीहाट की जनता ने ओवैसी को नहीं बल्कि तस्लीमुद्दीन के उत्तराधिकारी को चुना है

ओवैसी के आईटी सेल के लिए कंटेंट तैयार करने वालो को यह याद रहे कि शाहनवाज आलम एमआईएम के विधायक बाद में हैं पहले वे सीमांचल के दिग्गज नेता मरहूम तस्लीमुद्दीन के बेटे है जिन्होंने अपने जीते जी ओवैसी जैसों को यहां घुसने नहीं दिया था। उसी तरह जोकीहाट की जनता को जरा भी महसूस हुआ कि उनके नेता को कम आंका जा रहा है तो अगला शाहनवाज हुसैन बनाते देर नहीं लगेगी।

Continue reading जोकीहाट की जनता ने ओवैसी को नहीं बल्कि तस्लीमुद्दीन के उत्तराधिकारी को चुना है

लोकतंत्र का चौथा स्तंभ से गोदी मीडिया का सफर

उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, सूचना प्रसारण मंत्री अंबिका सोनी, एचआरडी मिनिस्टर कपिल सिब्बल, कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी, भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, सुषमा स्वराज, विपक्ष के नेता अरुण जेटली, सीपीआई नेता प्रकाश करात, आंध्र के सीएम के.रोसैय्याह, अभिनेता अमिताभ बच्चन जैसे देश के दिग्गजों ने इस ” पैड न्यूज” के खेल पर चिन्ता व्यक्त करते हैं Continue reading लोकतंत्र का चौथा स्तंभ से गोदी मीडिया का सफर

सुपारी पत्रकारिता के भरोसे चुनावी वैतरणी पार करने में लगे सुशासन बाबू

महागठबंधन के मजबूत किले में जब कहीं से सेंधमारी नहीं हो रही तब ऐसे वक्त में राज्यसभा उपसभापति हरिवंश बाबू का “खबर नहीं क्रांति” @ प्रभात खबर यह फर्जी खबर लेकर आया

है Continue reading सुपारी पत्रकारिता के भरोसे चुनावी वैतरणी पार करने में लगे सुशासन बाबू

अपने अस्तित्व को बचाने के जद्दोजहद में अररिया जिले के आत्मनिर्भर ग्रामवासी

नदी के कटाव में चार बार अपना घर गंवा चुके अजय कुमार दास कहते हैं ” यह केवल एक सड़क का मुद्दा बिल्कुल भी नहीं है, यह हमारे अस्तित्व, विस्थापन, रोजगार के लिए पलायन का मुद्दा है।”

Continue reading अपने अस्तित्व को बचाने के जद्दोजहद में अररिया जिले के आत्मनिर्भर ग्रामवासी

क्या आप जानते हैं जेएनयू वाले फर्जी वीडियो के पीछे स्मृति ईरानी और शिल्पी तिवारी का क्या योगदान था?

क्या गोदी मीडिया और भाजपा नेताओं ने कभी बताया कि उस फर्जी वीडियो के पीछे स्मृति ईरानी की खासम खास शिल्पी तिवारी का हाथ था? रोहित हत्या मामले से बचाने के लिए प्लांट किया गया था! उस वीडियो के फर्जी होने का सत्यापन मार्च 2016 को हो चुका था।
Continue reading क्या आप जानते हैं जेएनयू वाले फर्जी वीडियो के पीछे स्मृति ईरानी और शिल्पी तिवारी का क्या योगदान था?

न्यायपालिका के इतिहास में सबसे प्रभावशाली जज अरुण मिश्रा के भूमिका को हमेशा “याद रखा जाएगा”

इससे पहले कि हुजूर के शान में चार शब्द पेश करने की गुस्ताखी करूं मैं अपने वकील साहब (*प्रशांत भूषण नहीं )  से सुनिश्चित कर लिया है, अब हुजूर के बारे में ट्वीट या पोस्ट करने पर माननीय न्यायलय का अवमानना नहीं समझा जायेगा। चूंकि न्यायलय के प्रति मेरी अटूट आस्था है इसलिए हुजूर से दरख्वास्त है कि आगे कहे जाने वाले शब्दों को कृपया अपने तक ही संबंधित रखने की कृपा करें।

Continue reading न्यायपालिका के इतिहास में सबसे प्रभावशाली जज अरुण मिश्रा के भूमिका को हमेशा “याद रखा जाएगा”

चुन-चुनकर बदला लेता देश के सबसे बड़े राज्य के एक संवैधानिक पद पर आसीन मुख्यमंत्री अजय सिंह बिष्ट

रासुका पर सुनवाई करने के दौरान माननीय उच्च न्यायलय ने डॉ कफील के उस कथित भाषण को देश को जोड़ने वाला और लोकतंत्र के लिए मजबूत करने वाला बताते हुए रासुका हटाने का आदेश जारी करते हैं।

Continue reading चुन-चुनकर बदला लेता देश के सबसे बड़े राज्य के एक संवैधानिक पद पर आसीन मुख्यमंत्री अजय सिंह बिष्ट

“तुम्हारा शहर, तुम्ही कातिल, तुम ही मुद्दई, तुम ही मुनसिफ, हमें यकीन है हमारा ही कसूर निकलेगा”

अररिया गैंग रेप विक्टिम की पहचान जाहिर करने वाले पत्रकार के शक्ति प्रदर्शन मे न्यायपालिका की भूमिका Continue reading “तुम्हारा शहर, तुम्ही कातिल, तुम ही मुद्दई, तुम ही मुनसिफ, हमें यकीन है हमारा ही कसूर निकलेगा”

पीड़िता की पहचान उजागर करने मे शामिल दो कथित अधिवक्ता सह पत्रकार की संदिग्ध भूमिका क्या ” Quid pro quo ” है?

जिस प्रकार इन खबरों को प्लांट किया गया है वह देखकर लगता है जैसे इस केस के आड़ में सामूहिक बलात्कार के आरोपियों को बचाने की कोशिश की जा रही हो Continue reading पीड़िता की पहचान उजागर करने मे शामिल दो कथित अधिवक्ता सह पत्रकार की संदिग्ध भूमिका क्या ” Quid pro quo ” है?